2017

2016

2015

2014

Home » November 2013
दी एस्कॉर्ट हार्ट -12- (एंड ऑफ़ रिवेंज)

पिछली कड़ी:- दी एस्कॉर्ट हार्ट -11- (रिटर्न ऑफ़ दी किंग)


                    डायने एस्कॉर्ट पहुँच चुकी थी. सिपाही उन पर तीर दाग रहे थे लेकिन उनको कुछ फर्क नहीं पड रहा था. डायनों की जान उनके जादुई बालों में कैद थी. अगर छोटा सा बाल का टुकड़ा भी टूट जाए तो वो जल के भस्म हो सकती थी. वे सैनिकों को आराम से मार रही थी. उनके लिए मुश्किल था पिशाचों को मात देना. वहां मौजूद पिशाच डायनों को कड़ी टक्कर दे रहे थे. कुछ डायने राज्य में प्रवेश कर चुकी थी. पिशाच उनका हर कदम पर रास्ता रोकने की कोशिश में थे. उनकी लड़ाई में टक्कर इतनी जबरदस्त होती कि घर की दीवारे टूट रही थी. डायने पिशाच पर अपना जादू इस्तेमाल कर रहे थे, वो उन पर चांदी की तरंगो का हमला कर रहे थे, लेकिन पिशाच अपनी रफ़्तार से उसे चकमा दे रहे थे, क्यूंकि अगर वे डायनों को कहीं भी काट खाते तो भी डायनों को कुछ फर्क नहीं पड़ने वाला था, इसलिए उनका निशाना डायनों के बालों को खाकर काट देना था. सुरंग में लोग काँप रहे थे बाहर लड़ाई की आवाज सुनकर. उनसे भी ज्यादा तो राजा क्रिस्टन काँप रहा था. नेफ्थन ने आकर खबर दी कि काफी सिपाही मारे जा चुके हैं, आप कब लड़ने जायेंगे. क्रिस्टन ने जवाब दिया कि पिशाचों को आने दो फिर. नेफ्थन ने अपनी म्यान में से तलवार खिंची और निकल पड़ा अपनी कुर्बानी देने के लिए. काफी सिपाही मारे जा चुके थे. 2-4 पिशाच ही मारे गए और उतनी ही डायने.

                    कुछ ही पल बाद वहां पर-परियां भी पहुँच गए. लड़ाई और खतरनाक होती

दी एस्कॉर्ट हार्ट -11- (रिटर्न ऑफ़ दी किंग)

पिछली कड़ी:- दी एस्कॉर्ट हार्ट -10- (ट्रुथ ऑफ़ इवान्स) 

डफलीन की हजारों डायने आसीन के नेतृत्व में निकल पड़ी थी एस्कॉर्ट की ओर. आसमान में परिंदों से भी चौगुनी रफ़्तार से आगे बढ़ रही थी. उनको पिशाचों के एस्कॉर्ट पहुँचने से पहले एस्कॉर्ट पर कब्ज़ा करना था.
दूसरी तरफ पर-परियां भी रवाना हो गई थी डफलीन की ओर. रोजलीन उस फ़ौज की सेनापति थी. उन्हें नहीं पता था कि डायने डफलीन में नहीं हैं, वो एस्कॉर्ट के लिए निकल गई हैं.
आसीन का उल्लू उड़ता हुआ उसके सामने आया. दोनों ने एक-दुसरे की आँखों में देख. वो यह सन्देश लेकर आया था कि “परियां योजना के मुताबिक़ डफलीन की ओर निकली हैं, इवान्स शायद अभी भी उसी जंगल में हैं, पर जंगल के बाहर बहुत-से भूत पहरा दे रहे हैं इसलिए मैं अंदर नहीं घुस पाया”.
“कब निकलने का सोचा हैं हमनें?, डायने डफलीन से निकल चुकी हैं और परियां परीलोक से”- एक पिशाच ने किमियन से कहा.

“मैं थोड़ी देर खेल देखना चाहती हूँ, उन डायनों को एस्कॉर्ट पर कब्ज़ा करने दो, ताकि राजा मारा जाए, तब तक वो परियां भी पहुँच जायेंगी, कुछ डायनों का काम वो तमाम कर देंगी और फिर आखिर में वैम्पर अपनी असली ताकत दिखा के सबको चारो खाने चित करेंगे और एस्कॉर्ट अपनी सल्तनत में होंगा”-किमियन ख़ुशी के मारे हँसने लगी.

दी एस्कॉर्ट हार्ट -10- (ट्रूथ ऑफ़ इवान्स)

पिछली कड़ी:- दी एस्कॉर्ट हार्ट -9- (दी रिवेंजेबल बैटल बिगिन्स)

“कैसे हो मेरे दोस्त?”-भूत ने सलाम करते हुए अभिवादन किया.
“जैसा तुम छोड़कर गए थे वैसा ही”-इवान्स ने ताना मारा और एक पेड़ के सिरहाने बैठ गया. वो  गुस्से में था.
“ओह्ह्ह्ह, तो मतलब कुछ भी नहीं बदला”
“नहीं बदला, इतना सब कुछ तो बदल चूका हैं, अब और क्या बाकी रह गया?”
“तुम तो वो ही इवान्स हो फिर कहाँ कुछ बदला?”-भूत सबकुछ जानते हुए भी उसे छेड़ रहा था. उसके चेहरे पे मुस्कराहट थी जिसे वो छुपाने की कोशिश कर रहा था, कहीं इवान्स उस पर भड़क ना जाए.
“हाँ, इवान्स तो वो ही हैं बस हालातों के साथ उसके अपने बदलते गए और आज वक़्त ऐसा आ गया कि....और मेरे अपनों के बनाए हालातों की सजा मैं भुगत रहा हूँ....”-इवान्स बोलते-बोलते रुक गया. वो वापस खड़ा हुआ.

दी एस्कॉर्ट हार्ट -9- (दी रिवेंजेबल बैटल बिगिन्स)

पिछली कड़ी:- दी एस्कॉर्ट हार्ट -8-(एक्सट्रीकेट टू रोजलीन)


“कौन हैं यह लड़की?”-एक डायन ने आसीन से पूछा.

“परी,  उसके पिता डामिन के राजा सोबरीन थे व उसकी माँ एक परी, जब सोबरीन कास्टरिका पर हमले के लिये जा रहा था तब अपनी मौत को करीब आते देख क्रिस्टन जंगल में छिपा था और फिर मैंने उसकी मदद की, मैंने सोबरीन को युद्ध में मार डाला ”-आसीन ने उदासी भरे स्वर में बोली और अपनी नजरें झुका दी. सभी डायनों के चेहरे का रंग उड़ गया. उनका गला मानो सुख चूका हो, वैसे वे खामोश रोजलीन को देख रही थी. रोजलीन गुस्सैल निगाहों से सबको देख रही थी.

“हमनें अपनी सबसे बड़ी दुश्मन की मदद की, इवान्स ने इतना बड़ा धोखा दिया”-एक डायन इवान्स पर चिल्लाई.

“बहुत-बहुत शुक्रिया मुझे छुड़ाने के लिए, लेकिन मैं अपने माता-पिता के हत्यारी को नहीं छोड़ सकती”-रोजलीन आवेश में बोलते आसीन की तरफ बढ़ने लगी. वहां मौजुद सभी डायने रोजलीन की तरफ बढ़ने लगी.

“रुको!”-इवान्स चिल्लाया. तभी रोजलीन का सिर चकराने लगा और जमीन पर बेहोश गिर गई. सब डायने रुक गई. इवान्स रोजलीन के करीब भागा. उसे उठाकर एक घर के भीतर ले गया. सभी डायनों ने एक साथ आसीन की तरफ देखा.

“मुझे माफ़ कर देना, लेकिन मुझे स्वयं को नहीं पता था कि इवान्स जिस लड़की से प्यार करता हैं, जिसे वो छुड़ाने की लिये मदद मांग रहा हैं, वो एक परी हैं”-आसीन ने हाथ जोड़ सबसे माफ़ी मांगी.

“तो फिर क्या सोचा तुमने आसीन?”-एक डायन बोली.

“परी को खत्म कर दो और जो बीच में आये उसे भी, चाहे वो इवान्स ही क्यूँ न हो”-इवान्स का नाम लेते ही आसीन की आँखों से आंसू टपकने लगे.

दी एस्कॉर्ट हार्ट -8- (एक्सट्रीकेट टू रोजलीन)

पिछली कड़ी:- दी एस्कॉर्ट हार्ट -7-(सन मीट्स मदर)


                     महल के मुख्य-द्वार के घोड़ागाड़ी आकर रुकी. उसमें से राजा क्रिस्टन व सेनापति नेफ्थन उतरे.

“कौन हैं तू?”-द्वारपाल ने बड़ी बदतमीजी से पूछा.

“किमियन को संदेशा भिजवा दो कि उनसे मिलने एस्कॉर्ट के राजा क्रिस्टन आये हैं”-नेफ्थन ने व्यवहारिक जवाब दिया.

“राजा कौन हैं तू या यह”-और जोर-जोर से हँसने लगा. नेफ्थन ने क्रिस्टन की तरफ इशारा किया.

“इसमें सन्देश भिजवाने की क्या जरूरत हैं खुद ही चलकर बोल दो की एस्कॉर्ट के राजा क्रिस्टन तुमसे मिलने आया हैं”-और दुबारा जोर-जोर से हंसने लगा.

                     महल के भीतर क्रिस्टन, नेफ्थन द्वारपाल के साथ पैदल गुजर रहे थे. हजारों एकड़ में फैले उसे महल के अंदर भी हजारों छोटे-बड़े महल बने थे. बहुत-से पिशाच भीड़ में इक्कट्ठे ठहाके लगाते जोर-जोर से हंस रहे थे. कोई शराब के नशे में डूबे थे. कोई ताश-जुए खेलने में व्यस्त थे. तो कोई खुल्लेआम सहवास कर रहे थे. क्रिस्टन व नेफ्थन ने शर्म के मारे अपनी नजरें झुका दी.

                      किमियन अपने कक्ष में बैठी क्रिस्टन के आने के इंतज़ार कर रही थी. उसके आस-पास 5-6 पिशाच और खड़े थे. क्रिस्टन व नेफ्थन का अच्छे से स्वागत किया गया. क्रिस्टन ने अपनी समस्या किमियन को सुनाई कि एस्कॉर्ट को डफलीन से खतरा हैं, इसलिए वो उससे मदद मांगने आया हैं. नेफ्थन गुस्से में दोनों की शक्लें देख रहा था, वो अच्छी तरह जानता था कि क्रिस्टन को अपने राज्य के बजाय खुद की ज़िन्दगी की चिंता ज्यादा सता रही थी क्यूंकि डायनों के निशाने पर एस्कॉर्ट नहीं क्रिस्टन था. किमियन ने क्रिस्टन की मदद करने के लिए एक शर्त रखी जिसे क्रिस्टन ने बेझिझक स्वीकार कर लिया. शर्त यह थी कि आज से एस्कॉर्ट वैम्पर के अधीन रहेगा. नेफ्थन मायूस हो गया, वो चाहकर भी कुछ नहीं कर सकता था.

                      अगली सुबह सभी डायने आसीन के घर के बाहर खड़ी बतिया रही थी. इवान्स व आसीन घर से बाहर आये.